Home » Uncategorized » World breastfeeding day week hindi information message essay

World breastfeeding day week hindi information message essay

World breastfeeding day week hindi information message essay
World breastfeeding day week hindi information message essay

http://karenwritesromance.com/?bioeier=risultati-operazioni-binarie&21f=a0 १ अगस्त को वर्ल्ड ब्रेस्ट फीडिंग दिन मनाया जाता है
जानिए ब्रेस्ट फीडिंग का महत्व :
कहते हैं नवजात शिशु की तंदरुस्ती मां के दूध पर निर्भर करती है लेकिन बदलाव की बयार में कई बार महिलाएं बच्चे को अपना दूध पिलाने के बजाय बाहरी दूध की आदत डलवा देती हैं। कई बार इसके पीछे उनके स्वास्थ्य से संबंधित मजबूरी होती है तो कई बार यह धारणा कि दूध पिलाने से फिगर खत्म हो जाएगा और मोटापा बढ़ जाएगा। अगर हम यह कहें कि मां का दूध न सिर्फ बच्चों की सेहत के लिए फायदेमंद है बल्कि महिलाओं के लिए भी इसके बहुतेरे फायदे हैं।

مراجعة تداول الخيارات الثنائية Multipli e sottomultipli del Sistema Internazionale e prefissi dei multipli source दूध पिलाएं, कैलोरी घटाएं 
आप जितनी ज्यादा ब्रेस्ट फीडिंग करेंगी, उतनी अधिक कैलोरी बर्न होगी। चिकित्सकों का मानना है कि एक बार ब्रेस्ट फीड कराने में कम से कम 20 कैलोरी घटती है। ऐसे में डिलीवरी के बाद बढ़े वजन को कम करने का यह आसान तरीका हो सकता है।

watch una mujer soltera con un hombre casado बीमारियों से दूर रखती है ब्रेस्ट फीडिंग
ब्रेस्ट फीडिंग पर हुए अध्ययनों में माना गया है कि इससे न सिर्फ हृदय रोग, मधुमेह और ऑस्टोपोरोसिस जैसी बीमारियों से बचाव हो सकता है बल्कि महिलाओं में सबसतिजी से बढ़ रहे ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को भी बहुत हद तक रोका जा सकता है।
follow url

source link डिप्रेशन को करे दूर 
आमतौर पर गर्भावस्था या फिर डिलीवरी के बाद महिलाओं में डिप्रेशन यानी अवसाद की समस्या की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में जो महिलाएं अधिक समय तक ब्रेस्ट फीड कराती हैं वे इस समस्या से कोसो दूर रहती हैं। डॉक्टरों का भी मानना है कि वे अवसादग्रस्त महिलाओं को अधिक ब्रेस्ट फीडिंग की सलाह देते हैं।

mujeres buscando hombres michoacan इतना ही नहीं, ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान महिलाओं के शरीर से एक हार्मोन- ऑक्सीटॉक्सिन निकलता है जिससे वह तनावमुक्त रहत हैं और अच्छा महसूस करती हैं।

watch opciones binarias indicadores मजबूत होती है बॉन्डिंग
पीढ़ियों से ऐसी मान्यता है कि मां का बच्चों से संबंध इसलिए भी अधिक प्रगाढ़ होता है क्योंकि वे बच्चों को अपना दूध पिलाकर बड़ा करती हैं। अगर आप भी किसी सूपर नैचुरल पॉवर में विश्वास रखती हैं तो आपके नौनिहाल से बॉन्डिंग मजबूत करने के लिए ब्रेस्ट फीडिंग सबसे कारगर उपाय है।